IMA ने CM धामी को लिखी चिट्ठी, कांवड़ यात्रा टालने की मांग की

IMA wrote a letter to CM Dhami, demanding to postpone the Kanwar Yatra

IMA ने CM धामी को लिखी चिट्ठी, कांवड़ यात्रा टालने की मांग की

देहरादून: कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका के बीच उत्तर प्रदेश और हरियाणा सरकार कांवड़ यात्रा को हरी झंडी दे चुकी हैं। उत्तराखंड सरकार फिलहाल किसी रिस्क के मूड में नहीं दिख रही है, इसलिए कांवड़ यात्रा शुरू करने को लेकर फैसला नहीं हुआ है। इस बीच इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने सीएम पुष्कर धामी को पत्र लिखकर कांवड़ यात्रा पर रोक लगाने की मांग की है।

दरअसल यूपी और हरियाणा सरकार ने कोविड प्रोटोकोल के साथ कांवड़ यात्रा संपन्न करवाने के निर्देश दिए हैं। उत्तराखंड सरकार इस साल कांवड़ यात्रा पर रोक लगा चुकी है लेकिन पिछले दिनों सीएम धामी ने अधिकारियों से इस बारे में अन्य दोनों राज्यों से कॉर्डिनेट करने के निर्देश दिए थे। इससे लग रहा था कि सरकार कांवड़ यात्रा शुरू करने के पक्ष में है। लेकिन दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम धामी ने साफ किया कि सरकार ने कांवड़ यात्रा पर पहले ही रोक लगा रखी है। प्रदेश की जनता के हित में आवश्यकता पड़ने पर सरकार पड़ोसी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से भी बात करेगी और इस संबंध में कोई अंतिम फैसला लेगी। सीएम नव साफ किया था कि लोगों का जीवन बचाना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। यह पूरी तरह आस्था से जुड़ा मामला है, लेकिन लोगों का जीवन भी खतरे में नहीं डाला जा सकता। कांवड़ यात्रा के कारण कोविड 19 से एक भी जान जाती है, तो यह भगवान को भी अच्छा नहीं लगेगा।


इस बीच इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने कांवड़ यात्रा टालने की मांग की है। IMA ने उत्तराखंड के सीएम पुष्कर धामी को इस बाबत चिट्ठी लिखी है। जिसमें कहा है कि पहले की गलतियों को देखते हुए कांवड़ यात्रा को इजाजत न दें। जबकि कोविड की तीसरी लहर का खतरा भी मंडरा रहा है।