गन्ने का मूल्य बढ़ाने की मांग को लेकर चीनी मिल गेट पर धरने पर बैठे कांग्रेसी

Congressmen sitting on dharna at sugar mill gate demanding to increase the price of sugarcane

गन्ने का मूल्य बढ़ाने की मांग को लेकर चीनी मिल गेट पर धरने पर बैठे कांग्रेसी

किच्छा। गन्ने का मूल्य निर्धारित करने की मांग को लेकर कांग्रेस के तमाम नेताओं ने चीनी मिल गेट के सामने धरना प्रदर्शन किया। कांग्रेसियों ने वर्तमान भाजपा सरकार पर चीनी मिल की अनदेखी करने का भी आरोप लगाया है। कांग्रेसियों के धरने को पूर्व सीएम हरीश रावत ने भी अपना समर्थन देते हुए भाजपा सरकार पर प्रहार किया। 

धरना प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस के प्रदेश सचिव ठाकुर संजीव कुमार सिंह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार किसान विरोधी है इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि सरकार ने अभी तक गन्ने का मूल्य निर्धारित नहीं किया है। सिंह ने कहा कि सरकार की अनदेखी के कारण चीनी मिल बार-बार रूक जाती है जिससे गन्नों किसानों का काफी नुकसान भी होता है। वहीं किसान नेता सुरेश पपनेजा ने कहा कि सरकार को चाहिए कि वो गन्ने का मूल्य निर्धारित करे ताकि गन्ना किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य मिल पाए। इसके अलावा डॉ. गणेश उपाध्याय ने कहा कि भाजपा जनप्रतिनिधियों की नाकामी के कारण चीनी मिल से एथोनॉल प्लांट भी किच्छा से चले गया। जिसका नुकसान किच्छावासियों को भुगतना पड़ रहा है। धरने पर बैठे काँग्रेसियों ने गन्ने का मूल्य 100 रूपए से बढ़ाकर 427 रूपए प्रति कुंतल करने की मांग की है। वहां पर वरिष्ठ नेता हरीश पनेरू, पुष्करराज जैन, बंटी पपनेजा, तस्लीम रजा सलमानी, रिजवान अंसारी आदि मौजूृद थे।