चमोली में हुआ हिमस्खलन, 150 मजदूर लापता, मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत घटना स्थल के लिए हुए रवाना

Avalanche in Chamoli, 150 laborers missing, Chief Minister Trivendra Rawat left for the incident site

चमोली के रिणी गांव में हिमस्खलन के बाद तबाही का मंजर है। ऋषिगंगा प्रोजेक्ट को भारी बर्फबारी के बाद  अचानक पानी आने से क्षति की संभावना है। नदी में सैलाब आने से अलकनंदा के निचले क्षेत्रों में भी बाढ़ की संभावना है। फिलहाल क्षेत्र से 150 मजदूर लापता बताये जा रहे हैं। सीएम त्रिवेंद्र घटनास्थल पर रवाना हो चुके हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक आज सुबह करीब 10.30 बजे रिणि गांव के पास लोगों को ऋषिगंगा में अचानक सैलाब दिखा। माना जा रहा है कि एवलांच की घटना के बाद यह सैलाब आया। सोशल मीडिया पर जो वीडियो दिख रहे हैं उससे ऋषिगंगा घाटी को भारी नुकसान की संभावना जताई जा रही है। SDRF डीआईजी रिद्धिम अग्रवाल के मुताबिक ऋषिगंगा प्रोजेक्ट और NTPC में करीब 150 मजदूर कार्यरत थे, फिलहाल उनकी स्थिति का पता लगाया जा रहा है।

 

आपदा सचिव से जानकारी जुटाने के बाद सीएम त्रिवेंद्र घटनास्थल रवाना हो गए हैं। सीएम कुछ देर में वहां पहुंचने वाले हैं।

फिलहाल राहत की खबर ये है कि चमोली से आगे अलकनंदा नदी का बहाव सामान्य हो गया है। नदी का जलस्तर सामान्य से 1 मीटर ऊपर है लेकिन बहाव कम होता जा रहा है।

एहतियात के तौर पर सरकार में तटीय क्षेत्रों में लोगों को अलर्ट किया गया है। नदी किनारे बसे लोगों को क्षेत्र से हटाया गया है। भागीरथी नदी का फ्लो रोक दिया गया है। अलकनन्दा का पानी का बहाव रोका जा सके इसलिए श्रीनगर में GVK डैम  तथा ऋषिकेष के वीरभद्र डैम को खाली करवा दिया है।

अगर आप प्रभावित क्षेत्र में फंसे हैं, आपको किसी तरह की मदद की जरूरत है तो कृपया 1905  या। 9557444486 पर संपर्क करें।